अशोक गहलोतस्य असंगत् कथनं,इदृशं प्रतीतयति तत राष्ट्रपतियाम् भारमस्ति ! अशोक गहलोत का बेतुका बयान,ऐसा लगता है कि राष्ट्रपति पर दबाव है !

0
276

केंद्र सर्कारस्य नव कृषि विधेयकेषु कृषकानां ४० संगठनानि आपत्तिमस्ति तर्हि येन सहैव राजनीतिक दलमपि केंद्र सरकारे प्रहारकमस्ति !

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों पर किसानों के 40 संगठनों को ऐतराज है तो इसके साथ ही राजनीतिक दल भी केंद्र सरकार पर हमलावर हैं !

इति सर्वस्य मध्य पीएम मोदी: कृषक सम्मान निधिया: सप्तम् किश्त इति प्रसृतवान एकम् प्रश्नम् च् अपृच्छत् तत का कश्चित आपणं स्थगनमभव्यते ! सः अकथयत् तत अन्नदातानां प्रकरणेषु सरकारः संवेदनशीलमस्ति !

इन सबके बीच पीएम मोदी ने किसान सम्मान निधि की सातवीं किस्त जारी किया और एक सवाल पूछा कि क्या कोई मंडी बंद हुई है ! उन्होंने कहा कि अन्नदाताओं के मुद्दों पर सरकार संवेदनशील है !

तु कांग्रेसस्य आरोपम् केचनान्यैवास्ति ! गुरूवासरम् कांग्रेस सांसद राहुल गांधी: २ कोटि कृषकानां हस्ताक्षरम् राष्ट्रपतिम् समर्पित्वा हस्तक्षेपस्य याचनां कृतं ! इति सर्वस्य मध्य लोकसभायाम् नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी: राजस्थानस्य सीएम अशोक गहलोत: च् लक्ष्यमलक्ष्यतां !

लेकिन कांग्रेस का आरोप कुछ और ही है ! गुरुवार को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने 2 करोड़ किसानों की दस्तखत को राष्ट्रपति को सौंप कर दखल देने की अपील की ! इन सबके बीच लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने निशाना साधा !

पंजाबस्य,राजस्थानस्य,छत्तीसगढ़स्य पुदुचेरीयाः च् मुख्यमंत्री: राष्ट्रपतिया मेलनस्य अनुरोधम् कृतवान स्म ! राष्ट्रपतिं अति भारं भवनीयः तत चत्वारः मुख्यमंत्री: तेन मेलनं इच्छन्ति स्म तु सः तेन न मेलशक्नुते !

पंजाब,राजस्थान,छत्तीसगढ़ और पुदुचेरी के सीएम ने राष्ट्रपति से मिलने का अनुरोध किया था ! राष्ट्रपति को इतने दबाव में होना चाहिए कि चार मुख्यमंत्री उनसे मिलना चाहते थे लेकिन वह उनसे नहीं मिल सके !

अयम् मम धारणामस्ति ! सः अकथयत् तत कृषि विधेयकेषु केंद्र सर्कारस्य अडिगैच्छा ज्ञानस्य बाह्यास्ति !

यह मेरी धारणा है ! उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार का अड़ियल रवैया समझ के बाहर है !

कृषकै: वार्तायाम् विभेन्ति पीएम मोदी: प्रदर्शनकारी कृषकै: सह अम्मुख-सम्मुख वार्ता कृतस्य शक्ति मोदी महोदये नास्ति ! कृषकानां बैंक इति खाताषु १८००० कोटि रूप्यकानि सरलं हस्तांतरित भवस्य वार्ता सरकारः करोति !

किसानों से बातचीत में घबराते हैं पीएम मोदी
प्रदर्शनकारी किसानों के साथ आमने-सामने बात करने की हिम्मत मोदी जी में नहीं है ! किसानों के बैंक खातों में 18,000 करोड़ रुपये सीधे हस्तांतरित होने की बात सरकार करती है !

तु अहमेयम् कथनैच्छामि तत मध्यका: अद्यापि उपस्थितमस्ति पूर्ण राशिम् च् कृषका: एव न प्राप्तयति ! तु रक्षामंत्री राजनाथ सिंह: अकथयत् तत प्रधानमंत्रीया सह वयं सर्वम् कृषकै: याचनां कृतं इच्छाम: तत तिष्ठेयु: प्रत्येक विधेयकेषु अस्माकं सह चर्चाम् कृतेयु: !

लेकिन मैं यह कहना चाहता हूँ कि बिचौलिए अभी भी मौजूद हैं और पूरी राशि किसानों तक नहीं पहुंचती है ! लेकिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि PM समेत हम सब किसानों से अपील करना चाहते हैं कि बैठिए हर कानून पर हमारे साथ चर्चा कीजिए !

अहम् तर्हि अयमपि अनुरोधम् कृतवान तत भवान् कृषि विशेषज्ञानि आनयेन् इच्छतु तर्हि तेनापि आगच्छतु ! अयम् सरकारः वार्ताय पूर्ण रूपेण तत्परमस्ति !

मैंने तो यह भी अनुरोध किया है कि आप कृषि विशेषज्ञों को लाना चाहते हैं तो उन्हें भी लेकर आइए ! यह सरकार बातचीत करने के लिए पूरी तरह से तैयार है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here