मुस्लिम जनः स्वीकृत: हिंदूधर्मम्, अब्दुल जमीलतः भवित: श्रवण कुमार: ! मुस्लिम शख्स ने अपनाया हिन्दू धर्म, अब्दुल जमील से बने श्रवण कुमार !

0
289

उत्तर प्रदेशस्य फतेहपुरे अब्दुल जमील नाम्न: जनः हिंदूधर्मम् स्वीकृतमस्ति ! अब्दुल जमील: हनुमान मंदिरे प्राप्त: यत्र सः वैदिक मंत्रोच्चारेण सह पूजनम्, अर्चनम् यजु: कृत्वा हिंदू धर्मम् स्वीकृतमस्ति !

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में अब्दुल जमील नाम के शख्स ने हिन्दू धर्म अपनाया है ! अब्दुल जमील हनुमान मंदिर में पहुंचे जहां उन्होंने वैदिक मन्त्रोच्चार के साथ पूजा, अर्चना और हवन कर हिंदू धर्म अपनाया है !

हिंदूधर्मे आगमनस्यानंतरम् सः स्वनाम अब्दुल जमीलतः श्रवण कुमार: धृत: ! तत्रैव सः मुस्लिमधर्मं गृहीत्वा कथित: ततात्र बहवः विभेद: अस्ति, अत्र भ्रातापि भ्रातु: नास्ति ! अभिज्ञानस्यानुरूपम् अब्दुल जमील: रेलवे तः सेवानिवृत्त भवित: अस्ति, तस्य कुटुंबम् लक्ष्मणनगरे रमति !

हिन्दू धर्म में आने के बाद उन्होंने अपना नाम अब्दुल जमील से श्रवण कुमार रख लिया है ! वहीं उन्होंने मुस्लिम धर्म को लेकर कहा कि यहां बहुत भेदभाव है, यहां भाई भी भाई का नहीं है ! जानकारी के मुताबिक अब्दुल जमील रेलवे से रिटायर्ड हुए हैं, उनका परिवार लखनऊ में रहता है !

कुटुंबे भार्या, त्रयः पुत्रीणां अतिरिक्तं एक: पुत्र अपि अस्ति ! यै: मुस्लिम धर्मम् न त्यजिताः सन्ति ! जमीलस्य दीर्घ पुत्र्या: पाणिग्रहणम् भवितमस्ति ! श्रवण कुमार: अर्थतः अब्दुलस्येति निर्णयेण यत्र तस्य संपूर्ण कुटुंबम् पीड़ितमस्ति, तत्रैव तस्योपरि सामाजिक भारमपि निर्मीतुं अभवत् !

परिवार में पत्नी, तीन बेटियों के अलावा एक बेटा भी है ! जिन्होंने मुस्लिम धर्म को नहीं छोड़ा है ! जमील की बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है ! श्रवण कुमार उर्फ अब्दुल के इस फैसले से जहां उनका पूरा परिवार परेशान है, वहीं उनके ऊपर सामाजिक दबाव भी बना हुआ है !

इदृशे सम्प्रति सः लक्ष्मणनगरे स्वकुटुंबम् त्यक्त्वा फतेहपुरे वसितुं पीड़ित: सन्ति ! अखिल भारत हिंदू महासभायाः प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेदिण: नेतृत्वे तेन सनातन धर्मे सम्मिलितस्य कार्यक्रमेति कृतवान !

ऐसे में अब वो लखनऊ में अपना परिवार छोड़कर फतेहपुर में रहने पर मजबूर हैं ! अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेदी की देख रेख में उन्हें सनातन धर्म में शामिल कराने का कार्यक्रम किया गया !

हिंदू धर्मे आगमनस्यानंतरं अब्दुल जमील: कथित:, या धर्मे अहमासीत्, तत्र बहवः कुरीत्य: प्रताड़ना: आसीत्, यस्मात् खिन्न भूत्वाहम् उद्दतं तत अहम् हिंदूधर्मम् स्वीकरिष्यामि ! अहम् भगवतः रामस्य पूजनम् करोमि, ते ममाराध्य: सन्ति ! यजु: काळम् भगवतः विष्णो: जपम् श्रुत्वा मया बहु साधु अनुभवम् !

हिन्दू धर्म में आने के बाद अब्दुल जमील ने कहा, जिस धर्म में मैं था, वहां बहुत कुरीतियां और प्रताड़नाएं थीं, जिससे दुखी होकर मैंने ठाना कि मैं हिंदू धर्म अपनाऊंगा ! मैं भगवान राम की पूजा करता हूँ, वे मेरे आराध्य हैं ! हवन के समय भगवान विष्णु के जप को सुनकर मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ !

तत्रैव स्वोपरि घटितं घटनाम् वर्णनयन् ज्ञापित: तत यदा सः धर्म परिवर्तनस्य वार्ता स्वकुटुंबम् ज्ञापित: तर्हि तेन सहासाधु प्रकारेणारर: कृतमासीत् ! जमीलस्य स्याल: बंधने कृत्वा बहु ताडित: स्म !

वहीं अपनी आपबीती सुनाते हुए बताया कि जब उन्होंने धर्म बदले की बात अपने परिवार को बताई तो उनके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई थी ! जमील के साले ने बंधक बनाकर उनको जमकर पीटा था !

सः अग्रम् कथित: मया स्वाराध्य भगवतः रामे पूर्ण आस्थामस्ति, यस्याहम् पूजनम् विगत त्रिभिः मासै: गृहे करोमि सम्प्रति च् मया कश्चिततः भयं नानुभूत: ! यदि कश्चित त्रासितं भर्त्सितं वा तर्हि अहम् सरलं आरक्षके अपवादम् करिष्यामि डीएम तः सुरक्षाम् याचिष्यामि !

उन्होंने आगे कहा मुझे अपने आराध्य भगवान राम पर पूरी आस्था है, जिनकी मैं पूजा पिछले तीन महीने से घर पर कर रहा हूँ और अब मुझे किसी से डर नहीं लगता ! अगर किसी ने डराया या धमकाया तो मैं सीधे पुलिस में शिकायत करूंगा और डीएम से सुरक्षा मांगूगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here