ज्ञानवाप्यां निर्णायक: न्यायाधीशं पीड्यति सुरक्षायाः चिंताम् बदित: साधारण प्रकरणम् कृतमसाधारणं ! ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को सता रही है सुरक्षा की चिंता बोले साधारण मामले को बना दिया गया असाधारण !

0
132

वाराणस्यां ज्ञानवापी परिसरे पुनः अनुसंधानस्याज्ञा दाता सिविल न्यायाधीश: रवि कुमारमधुना स्व कुटुंबस्य सुरक्षायाः चिंताम् पीड्यति ! रवि कुमार दिवाकर: इदमपि कथित: तत साधारणतः प्रकरणम् असाधारणं कृत्वा भयस्य स्थितिम् कृतं !

वाराणसी में ज्ञानवापी परिसर में फिर से सर्वे का आर्डर देने वाले सिविल जज रवि कुमार को अब अपने परिवार की सुरक्षा की चिंता सता रही है ! रवि कुमार दिवाकर ने ये भी कहा कि साधारण से मामले को असाधारण बनाकर डर का माहौल बना दिया गया है !

स्वाज्ञायां न्यायाधीश: कथित: भयस्य स्थितिम् कृते सः च् स्वकुटुंबस्य सुरक्षाम् गृहीत्वा चिंतित: सन्ति ! दिवाकर: कथित: इति दीवानी प्रकरणमसाधारणम् प्रकरणम् कृत्वा भयस्य स्थितिम् उत्पादितमस्ति !

अपने आदेश में जज ने कहा कि डर का माहौल बनाया जा रहा है और वह अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं ! दिवाकर ने कहा इस दीवानी मामले को असाधारण मामला बनाकर भय का माहौल पैदा कर दिया गया है !

भयमियतस्ति तत मम कुटुंब सदैव मम सुरक्षाम् गृहीत्वा चिंतितं रमति अहम् च् तस्य (कुटुंबस्य) सुरक्षाम् गृहीत्वा चिंतित: रमामि ! यदापि अहं गृहतः बाह्य रमामि तर्हि पुनः-पुनः मम भार्यां मम सुरक्षायाः चिंताम् रमति !

डर इतना है कि मेरा परिवार हमेशा मेरी सुरक्षा को लेकर चिंतित रहता है और मैं उनकी (परिवार की) सुरक्षा को लेकर चिंतित रहता हूँ ! जब भी मैं घर से बाहर रहता हूँ तो बार-बार मेरी पत्नी को मेरी सुरक्षा की चिंता रहती है !

श्वमात्रा (लक्ष्मणनगरे) यदा मम वार्ता अभवम् तर्हि तापि मम सुरक्षाम् प्रत्यां चिंतिता दर्शिता ! मीडियातः ळब्धवार्ताभिः तया ज्ञातमभवत् तत संभवत: अहम् अपि आयुक्तस्य रूपे अवसरे गच्छामि मम माता च् मया कथिता तताहमवसरे न गमनीयं !

कल मां (लखनऊ में) से जब मेरी बातचीत हुई तो वो भी मेरी सुरक्षा के बारे में चिंतित दिखीं ! मीडिया से मिली खबरों से उन्हें पता चला कि शायद मैं भी कमिश्नर के रूप में मौके पर जा रहा हूँ और मेरी मां ने मुझसे कहा कि मैं मौके पर नहीं जाना चाहिए !

कुत्रचित यस्मात् मम सुरक्षाम् संकटम् भवितुं शक्नोति ! वाराणस्या: सिविल न्यायाधीश: रवि कुमार दिवाकरस्य न्यायालय: ज्ञानवापी-शृंगार गौरी परिसरस्य वीडियोग्राफी सर्वेक्षणाय न्यायालयेण नियुक्त न्यायालयायुक्तम् परिवर्तनस्य याचनां निरस्तं कृतवान स्म !

क्योंकि इससे मेरी सुरक्षा को खतरा हो सकता है ! वाराणसी के सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर की अदालत ने ज्ञानवापी-शृंगार गौरी परिसर का वीडियोग्राफी-सर्वेक्षण करने के लिए अदालत द्वारा नियुक्त कोर्ट कमिश्नर को बदलने की मांग को खारिज कर दिया था !

येन सहैव न्यायालय: १७ मई एवानुसंधानस्य कार्यम् पूर्णित्वा सूचनापत्रम् प्रदत्तस्यापि निर्देशित: ! स्व निर्णये न्यायालय: इदमपि कथित: तत ज्ञानवापी परिसरे अनुसंधानम् तालयंत्रमनावृत्वा तालयंत्रम् त्रोटित्वा वा ! इदम् कार्यम् न विरमनीयं ! डीजीपी मुख्यसचिवम् च् अनुसंधानप्रक्रियायाः वीक्ष्यणस्य जिम्मेवारिम् दत्तमस्ति !

इसके साथ ही अदालत ने 17 मई तक सर्वे का काम पूरा कर रिपोर्ट सौंपने का भी निर्देश दिया ! अपने फैसले में कोर्ट ने ये भी कहा कि ज्ञानवापी परिसर में सर्वे ताला खुलवाकर हो या ताला तोड़कर ! ये काम नहीं रुकना चाहिए ! DGP और चीफ सेक्रेटरी को सर्वे प्रक्रिया की मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी दी गई है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here