मस्जिदे गत्वा चत्वारः हिन्दू युवकानि अपठ्यत् हनुमान चालीसा,आरक्षकम् आतंकिनि भांति अबधनात् हथकड़ी इति !मस्जिद में जाकर चार हिन्दू युवकों ने पढ़ी हनुमान चालीसा,पुलिस ने आतंकियों जैसी लगाई हथकड़ी !

0
240

चत्वारः हिंदू युवानि बरसाना मार्गे एकम् ईदगाहे हनुमान चालीसा इत्यस्य पाठम् कृतवान,आरक्षकम् तेन आतंकिनां भांति हथकड़ी इति बंधित्वा बन्दीम् कृतवान ! इत्यात् पूर्व मथुराया: नंदबाबा मंदिर परिसरस्य घटनाम् यस्मिन् द्वयो मुस्लिमो मंदिरे गत्वा नमाज इति अपठ्यत: स्म, किं तयोपि हथकड़ी इति बंधित्वा बन्दीम् अक्रियते स्म !

चार हिंदू युवाओं ने बरसाना रोड पर एक ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ किया,पुलिस ने उन्हें आतंकियों की भांति हथकड़ी लगाकर गिरफ्तार किया ! इससे पहले
मथुरा के नंद बाबा मंदिर परिसर की घटना जिसमें दो मुस्लिमों ने मंदिर में जाकर नमाज पढ़ी थी, क्या उनको भी हथकड़ी लगाकर गिरफ्तार किया गया था !

तैव नमाज इत्यस्य उपरांत अद्य गोवर्धन क्षेत्रस्य चत्वारः हिंदू युवानि बरसाना मार्गे एकम् ईदगाहे हनुमान चालीसा इत्यस्य पाठम् कृतवान जय श्री रामस्य च् उद्घोषम् उद्घोषयत् ! आरक्षकम् ग्रहे युवका: अकथयत् तत तैपि नंदबाबा मंदिरे यत् केचनमपि अभवत् स्म तेन आवर्तन कृत्वा साम्प्रदायिक सद्भावम् बर्धनस्य प्रयत्नम् कुर्वन्ति स्म !

उसी नमाज के बाद आज गोवर्धन क्षेत्र के चार हिंदू युवाओं ने बरसाना रोड पर एक ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ किया और जय श्री राम के नारे लगाए ! पुलिस हिरासत में युवकों ने कहा कि वे भी नंद बाबा मंदिर में जो कुछ भी हुआ था उसे उल्टा करके सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे थे !

साभार nbt

बन्दीम् चत्वारः युवकानि सौरभ:,राघव मित्तल:, कान्हा: कृष्णा ठाकुरम् च् आरक्षकम् क्षेत्रे शान्ति भंग कृतस्य आरोपे बन्दीम् कृतवान ! विचारणीयमस्ति तत अद्यापि मथुराया: प्राचीन प्रसिद्धम् च् नंद भवन मंदिरे द्वय मुस्लिम युवकाभ्यां नमाज इति पठनस्य प्रकरण सम्मुखम् आगतवान स्म !

गिरफ्तार चार युवकों सौरभ, राघव मित्तल, कान्हा और कृष्णा ठाकुर को पुलिस ने इलाके में शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया है ! गौरतलब है कि अभी मथुरा के प्राचीन एवं प्रसिद्ध नंद भवन मंदिर में दो मुस्लिम युवकों द्वारा नमाज पढ़ने का मामला सामने आया था !

नमाज इति पठनस्य चित्रपट सोशल मीडिया इत्ये प्रसृतस्य उपरांत जनाः इत्ये आपत्तिम् व्यक्तयते स्म ! बरसाना क्षेत्रम् नंद गांव स्थित इति मंदिरे नमाज पठनम् गृहीत्वा स्थानीय जनेषु क्रोधमपि पश्यम् अप्राप्यत् स्म ! इति घटनायाः विरुद्धम् द्वयो युवको आरक्षकम् अभियोगम् पंजीकृतं कृतवान स्म ! इति द्वयो युवकयो धार्मिक भावनानि उद्दतस्य आरोपम् आरोपणमासीत् !

नमाज पढ़ने का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लोगों ने इस पर आपत्ति जताई थी ! बरसाना इलाके नंद गांव स्थित इस मंदिर में नमाज पढ़े जाने को लेकर स्थानीय लोगों में गुस्सा भी देखने को मिला था ! इस घटना के खिलाफ दो युवकों पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था ! इन दो युवकों पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगा था !

वरिष्ट आरक्षक अधीक्षकः डॉ गौरव ग्रोवर: अबदत् तत मथुरा जनपद हिंदू-मुस्लिम सौहार्दस्य प्रतीकस्य रूपे ज्ञातयेत् इदृशेषु कश्चितापि समुदायस्य व्यक्तिनि देशस्य स्थितिम् उच्छेदस्य आज्ञाम् न दाष्यते इदृशेन कार्य कृतानां विरुद्धम् विधिक कार्यवाहिम् करिष्यते !

वरिष्ट पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर ने बताया कि मथुरा जनपद हिंदू-मुस्लिम सौहार्द के प्रतीक के रूप में जाना जाता है और ऐसे में किसी भी समुदाय के व्यक्तियों को अमन की फिजा को बिगाड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी और ऐसे कार्य करने वालों के खिलाफ सख्त विधिक कार्रवाई की जाएगी !

अस्य इयमेव अर्थम् भवति, मुस्लिम करोतु तर्हि भातृवत् हिन्दू तस्य प्रत्युत्तरम् अददात् तर्हि परस्परं सौहार्द अखण्डयति, इयम् तर्हि तैवम् अभवत्,तत भवतः चाल इति हस्ते चित्त इति पतयति तर्हि स्व पट्ट इति पतयति तर्हि स्व, सर्वात् प्रथम जनपदस्य आरक्षकेण प्रश्नमस्ति किं सर्वाणि बालकाः बहु वृहद पातकिमासीत् यत् तेन हथकड़ी इति बन्धनस्य आवश्यक्ताम् अभवत् ?

इसका यही मतलब होता है,मुस्लिम करे तो भाईचारा हिन्दू उसका प्रत्युत्तर दे तो आपसी सौहार्द बिगड़ रहा है,यह तो वही वाली हुई,कि आपकी चाल हाथ में चित्त गिरे तो अपनी पट्ट गिरे तो अपनी,सबसे पहले जनपद की पुलिस से प्रश्न है क्या सभी बालक बहुत बड़े अपराधी थे जो उन्हें हथकड़ी लगाने की जरूरत पड़ी ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here