21.8 C
New Delhi

हिंद्या: प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहलिण: निधनम्, कोरोना विषाणु तरासीत् संक्रमित: ! हिन्‍दी के नामचीन साहित्‍यकार डॉ नरेंद्र कोहली का निधन, कोरोना वायरस से थे संक्रमित !

Date:

Share post:

देशस्य सुप्रसिद्ध साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहली: न रमित: ! शनिवासरम् सायं ६.४० वादनम् तस्य निधनम् भवितः ! केचन दिवसानि पूर्व तेन कोरोना विषाणु संक्रमणस्य पुष्टिमभवत् स्म, यस्यानंतरम् तेन इंद्रप्रस्थस्य सेंट स्टीफंस चिकित्सालये चिकित्साहेतु नीत: स्म !

देश के जाने-माने साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहली नहीं रहे ! शनिवार शाम 6:40 बजे उनका निधन हो गया ! कुछ दिनों पहले उन्‍हें कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद उन्‍हें दिल्ली के सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था !

हिंदी साहित्ये उल्लेखनीयं योगदानाय तेन वर्षम् २०१७ तमे पद्मालंकरणेनालंकृतम् स्म ! पीएम नरेंद्र मोदी: सुप्रसिद्ध साहित्यकार नरेंद्र कोहलिण: निधने शोकम् व्यक्तमानः तस्य परिजनानि प्रति संवेदनाम् व्यक्त: !

हिंदी साहित्‍य में उल्‍लेखनीय योगदान के लिए उन्‍हें साल 2017 में पद्म अलंकरण से नवाजा गया था ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुप्रसिद्ध साहित्यकार नरेंद्र कोहली के निधन पर शोक जताते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना जताई !

सः ट्वीत कृत्वा कथितः सुप्रसिद्ध साहित्यकार नरेंद्र कोहली महाशयस्य निधनेनातिशोकं लब्धम् ! साहित्ये पौराणिकं ऐतिहासिकं च् चरित्रानां जीवंत चित्रणाय ते सदैव स्मृष्यते ! शोकस्य इति काले मदीयं संवेदनानि तस्य परिजनै: प्रशंसकै: च् सहास्ति ! ओम शांति !

उन्‍होने ट्वीट कर कहा सुप्रसिद्ध साहित्यकार नरेंद्र कोहली जी के निधन से अत्यंत दुख पहुंचा है ! साहित्य में पौराणिक और ऐतिहासिक चरित्रों के जीवंत चित्रण के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे ! शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं ! ओम शांति !

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह: अपि ट्वीत कृत्वा सुप्रसिद्ध साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहलिण: निधने शोकम् व्यक्तौ ! डॉ नरेंद्र कोहलिण: गणना हिंद्या: सुप्रसिद्ध साहित्यकारेषु भवन्ति !

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर दिग्गज साहित्‍यकार डॉ नरेंद्र कोहली के निधन पर शोक जताया ! डॉ नरेंद्र कोहली की गिनती हिन्‍दी के नामचीन साहित्‍यकारों में होती है !

सः अभ्युदयं, युद्धम्, वासुदेवं, अहल्यां यथैव कतिपय पुस्तकानि लिखित:, यत् बहु पठितं प्रशंसितं वा ! सः हिंदी क्षेत्रे सर्वात् अधिकम् रॉयल्टी इति लब्धका: लेखका: आसन् ! तस्य निधने साहित्य प्रीतिषु शोकस्य प्रभावानि सन्ति !

उन्होंने अभ्युदय, युद्ध, वासुदेव, अहल्या जैसी कई किताबें लिखीं, जो खूब पढ़ी व सराही गईं ! वह हिंदी जगत में सबसे अधिक रॉयल्टी पाने वाले लेखक थे ! उनके निधन पर साहित्य प्रेमियों में शोक की लहर है !

डॉ कुमार विश्वास: डॉ नरेंद्र कोहलिना सह स्व एकम् चित्रम् ट्वीते प्रसृतमानः तस्य निधने बहु शोकम् व्यक्त: !

डॉ कुमार विश्‍वास ने डॉ नरेंद्र कोहली के साथ अपनी एक तस्‍वीर ट्विटर पर शेयर करते हुए उनके निधन पर गहरा शोक जताया है !

सः अलिखत् रामकथाभ्युदय यथा ग्रन्थेन जने- मने स्थानम् सुनिश्चितं कर्ता, मम प्रत्यगाध स्नेह आशीष वा धर्ता वरिष्ठ साहित्यकार पद्मभूषण श्री नरेंद कोहली महाशयः कोरोनायाः कारणम् स्वाराध्य राघवेंद्रस्य साकेतधाम प्रस्थानम् कृतः ! अद्यापि तदा श्रीराम जन्मभूम्या: द्वारे भवता सत्संगम् अभवत् स्म !

उन्‍होंने लिखा रामकथा अभ्युदय सरीखे ग्रंथ से जन-मन में स्थान सुनिश्चित कर लेने वाले, मेरे प्रति अगाध स्नेह व आशीष रखने वाले वरिष्ठ साहित्यकार पद्मभूषण श्री नरेंद्र कोहली जी कोरोना के कारण अपने आराध्य राघवेंद्र के साकेतधाम प्रस्थान कर गए ! अभी तो श्रीराम जन्मभूमि के द्वार पर आपसे सत्संग हुआ था !

केंद्रीयमंत्री प्रह्लाद पटेल:, केंद्रीयमंत्री स्मृति ईरानी, लोकप्रिय गायिका मालिनी अवस्थी, तरुण विजय, कवि-गीतकार प्रसून जोशिणा सह बहु प्रसिद्धानि डॉ नरेंद्र कोहलिण: निधने शोकम् व्यक्तानि कथितानि च् तत तस्य गमनम् हिंदी साहित्याय एकस्य युगस्य अंतम् यथास्ति !

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल, केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी, लोकप्रिय गायिका मालिनी अवस्थी, तरुण विजय, कवि-गीतकार प्रसून जोशी सहित तमाम हस्तियों ने डॉ नरेंद्र कोहली के निधन पर शोक जताया है और कहा कि उनका जाना हिन्दी साहित्‍य के लिए एक युग के अंत जैसा है !

प्रख्यात साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहलिण: जन्म ६ जनवरी १९४० तममविभाजित भारतस्य सियालकोटे अभवत् स्म, यत् अधुना पकिस्ताने अस्ति !

प्रख्यात साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहली का जन्म 6 जनवरी 1940 को अविभाजित भारत के सियालकोट में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...