20.1 C
New Delhi

सम्प्रत्यापि संबुध्यत:,कृषकाणाम् न कांग्रेसस्य आन्दोलनम् ! अब भी समझिए,किसानों का नहीं कांग्रेस का आन्दोलन !

Date:

Share post:

कृषकान्दोलनस्य वित्त सत्रस्य च् मध्य कांग्रेस सांसदः राहुल गांधी: कथितः तत केंद्रसर्कारस्य त्रयाणि कृषिविधेयकानि पुनर्नियेत् ! इन्द्रप्रस्थे येन प्रकारस्य स्थितिम् निर्मयन् तस्य केवलं एकैव हलमस्ति तत सरकारः विधिम् समाप्तम् कुर्यात् !

किसान आंदोलन और बजट सत्र के बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार का तीनों कृषि कानूनों को वापल लेना चाहिए ! दिल्ली में जिस तरह का माहौल बना हुआ है उसका सिर्फ एक ही समाधान है कि सरकार कानून को समाप्त करे !

ज्ञापयन्तु तत कृषकाणाम् प्रकरणेषु कांग्रेस: राष्ट्रपत्या: अभिभाषणस्य बहिष्कारत: स्म ! इत्यात् पूर्व गुरूवासरस्य रात्रि सः ट्वीत कृतः कथितः च् तत सम्प्रति एकस्य तट अङ्गीकृस्य कालमागत: ! तत् लोकतंत्रेण सह सन्ति !

बता दें कि किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार किया था। इससे पहले गुरुवार की रात उन्होंने ट्वीट किया और कहा कि अब एक साइड चुनने का वक्त आ गया है ! वो लोकतंत्र के साथ हैं !

प्रथम विधेयक मंडी इति प्रणालीम् सम्पादयति द्वितीय विधेयके असीमितभंडारणस्य सुविधां यस्मात् कालाबाजारी बर्धिष्यते ! तृतीय विधेयके कृषकः स्व पीड़ाम् न्यायालयः नीतुम् शक्नोति !

पहला कानून मंडी सिस्टम को खत्म करता है ! दूसरे कानून में असीमित भंडारण की सुविधा जिससे कालाबाजारी बढ़ेगी ! तीसरे कानून में किसान अपनी दिक्कत को अदालत नहीं ले जा सकता है !

एतानि त्रयाणां विधेयकानां विरुद्धम् कृषकः इन्द्रप्रस्थस्य सीमायामस्ति सरकारः च् कृषकान् विभेतस्य भर्तस्कस्य कार्यम् करोति ! येन प्रकारेण कृषकै: सह व्यवहरति तत् आपराधिक कृत्यमस्ति !

इन तीनों कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली की सीमा पर है और सरकार किसानों को डराने धमकाने का काम कर रही है ! जिस तरह से किसानों के साथ व्यवहार किया जा रहा है वो आपराधिक कृत्य है !

कृषकाणामान्दोलनम् सम्पादितस्य जिम्मेवारिम् सर्कारस्यास्ति अस्य च् एकमात्रमुपाय: अयमेव अस्ति सरकारः एतानि त्रयाणि विधेयकानि समापन कुर्यात् !

किसानों के आंदोलन को खत्म करने की जिम्मेदारी सरकार की है और इसका एक मात्र उपाय यही है कि सरकार इन तीनों कानून को खत्म करे !

राहुल गांधी: कथितः तत इति विधेयकस्य कारणेन उत्पादित विरोधम् नगराणि एव गमिष्यति ! इत्यात् केवलं ग्रामीण प्रांतानां युवैव न प्रभावितं भवन्ति अपितु नगरस्य युवापि प्रभावितं भविष्यन्ति अयमान्दोलनस्य वृहद स्तरे प्रसरिष्यते !

राहुल गांधी ने कहा कि इस कानून की वजह से उपजा विरोध शहरों तक जाएगा ! इससे सिर्फ ग्रामीण इलाके के युवा ही नहीं प्रभावित हो रहे हैं बल्कि शहर के युवा भी प्रभावित होंगे और यह आंदोलन बड़े स्तर पर फैलेगा !

सः पीएम मोदिना प्रार्थनाम् कुर्वन्ति तत प्रकरणानां गम्भीर्यतां संबुध्यताः विधेयकानि च् पुनर्नियताः सदयमस्ति तत प्रत्येक कृषकस्य गृहे चौर: प्रवेशयति मोदी महोदयः च् तस्मिन् सहाय्य कुर्वन्ति ! सदयमस्ति तत पंच तः सप्त जनान् लाभम् दत्तस्य प्रयासमस्ति !

वह पीएम मोदी से अपील करते हैं कि मामले की गंभीरता को समझें और कानूनों को वापस लें ! सच यह है कि हर किसान के घर में चोर घुस रहा है और मोदी जी उसमें मदद कर रहे हैं ! सच यह है कि पांच से सात लोगों को फायदा पहुंचाने का प्रयास है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोशन रायस्य नाम्ना फेसबुक इत्यां अवयस्का हिंदू बालिकया मित्रता गृहे संभोगस्यानंतरम् हन्त्यां निकाह ! रोशन राय के नाम से फेसबुक पर नाबालिग हिंदू लड़की...

उत्तर प्रदेशस्य सोनभद्र जनपदतः लवजिहादस्य प्रकरणम् संमुखमागतवत् ! अत्रैका हिंदू बालिका शाहवेजे स्वम् रोशन राय इति नाम्ना प्रीत्या:...

अवयस्का हिंदू बालिकामताडयत्, अलिहत् स्व ष्ठीव्, मोहम्मद मुश्ताक: बंधनम् ! नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार !

बिहारस्य पूर्णियायां एकावयस्का हिंदू बालिकां ष्ठीव् लिहस्य प्रकरणम् संमुखमगच्छत् ! आरोपं अस्ति तत बालिकया: स्तंम्भे निबध्य ताडनमपि अकरोत्...

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...