25.1 C
New Delhi
Sunday, October 24, 2021

राहुल गांधिण: अप्रमाणितं वार्ता, त्वरित सुरक्षा औषधि न दाष्यते तदार्गलायाः अनंतरमर्गलायाः समाघातानि कर्तुम् भविष्यते ! राहुल गांधी की फर्जी बात, जल्द वैक्सीन नहीं लगी तो लहर के बाद लहर का सामना करना पड़ेगा !

Must read

कांग्रेसस्य पूर्वाध्यक्ष: राहुल गांधी: देशे कोरोना इत्यस्य द्वितीयार्गलाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीम् जिम्मेवारम् कथितः ! राहुल: शुक्रवासरं कथितः तत कोरोना इत्येन निर्वहनाय सर्वकारं स्व कार्य शैलिम् परिवर्तनस्यावश्यकतामस्ति !

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया ! राहुल ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार को अपनी कार्यशैली बदलने की जरूरत है !

असत्येनाधिप्रचारेण कार्यं न चरिष्यति, कोरोना इत्येन भवकः निधनानां मृत्युदरे असत्यं बद्यते ! महामार्याम् राजनीति कृतस्यावश्यकतां नापितु इदम् प्राणानि रक्षणस्य कालमस्ति !

झूठ और प्रोपगैंडा से काम नहीं चलेगा, कोरोना से होने वाली मौतों की मृत्यु दर पर झूठ बोला जा रहा है ! महामारी पर राजनीति करने की जरूरत नहीं बल्कि यह जिंदगियां बचाने का समय है !

सर्वकारस्य टीकाकरण नित्याम् प्रश्नमोत्थायतु देशे संचरितं टीकाकरणाभियाने स्व वार्ता धृतमानः वायनाडस्य सांसदः कथितः ततास्य हलम् केवलं टीकास्ति !

सरकार की टीकाकरण नीति पर सवाल उठाए
देश में जारी टीकाकरण अभियान पर अपनी बात रखते हुए वायनाड के सांसद ने कहा कि इस महामारी का हल केवल टीका है !

लॉकडाउन इत्येन सर्वकारं केवलं त्वरित सुखम् लब्धुम् शक्नोति ! कांग्रेस नेता कथितः तत टीकाकरणे सर्वकारस्य नीतिम् गृहित्वा सः प्रधानमंत्रिम् पूर्वैव सचेतं कृतः स्म !

लॉकडाउन से सरकार को केवल फौरी राहत मिल सकती है ! कांग्रेस नेता ने कहा कि टीकाकरण पर सरकार की नीति को लेकर वह प्रधानमंत्री को पहले ही आगाह कर चुके थे !

राहुल: कथितः अद्यापिएव केवलं जनसंख्यायाः त्रय प्रतिशतमेव कोरोना इत्यस्य सुरक्षौषधि ळब्धानि यद्यपि सर्वकारस्यानुसारम् २० कोटि जनान् टीका ळब्धानि !

राहुल ने कहा अभी तक केवल आबादी के तीन प्रतिशत को ही कोरोना की वैक्सीन लग पाई है जबकि सरकार के अनुसार 20 करोड़ लोगों को टीका लग चुका है !

राहुल: कथितः टीकान् गृहित्वा वाणिज्यं क्रियते वयं विषाणो: स्व कपाटं अनावृतानि ! देशे टीकानां मूल्यं भिन्नम्-भिन्नमस्ति !

राहुल ने कहा टीके को लेकर व्यापार किया जा रहा है ! हमने वायरस के लिए अपने दरवाजे खुले रखे ! देश में टीके की कीमत अलग-अलग है !

देशे येन गतिना टीकाकरण भवति, इदमेव गति चरितं तदा वयं स्व संपूर्ण जनसँख्याम् मई २०२४ तमेव लब्धष्यते ! जनानां टीकाकरण त्वरितं नाभवत् तदास्माभिः अर्गलायाः अनंतरम् अर्गलायाः समाघातानि कर्तुम् भविष्यामः !

देश में जिस गति से टीकाकरण हो रहा है, यही गति चलती रही तो हम अपनी पूरी आबादी को मई 2024 तक टीका लगा पाएंगे ! लोगों का टीकाकरण जल्दी नहीं हुआ तो हमें लहर के बाद लहर का सामना करना पड़ेगा !

कांग्रेस नेतारोपमारोपित: तत सः कोरोना इति महामार्याया संलग्नम् आंकड़ान् गोप्यति सः कथितः सर्वकारस्य विचारम् आंकड़ानि गोपनमस्ति !

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि वह कोरोना महामारी से जुड़े आंकड़ों को दबा रही है उन्होंने कहा सरकार की सोच आंकड़े दबाने की है !

इदम् विचारम् आरएसएस इत्यस्यास्ति सर्वकार मृत्युदरं प्रत्ये असत्यं बदति ! सः मीडिया इत्ये सदतागमितुम् न दत्त: ! सः ट्विटर इत्ये फेसबुक इत्ये भारम् भारयति !

यह सोच आरएसएस की है सरकार मृत्यु दर के बारे में झूठ बोल रही है। वह मीडिया में सच्चाई आने नहीं दे रही ! वह ट्विटर और फेसबुक पर दबाव बना रही है !

देशे शुक्रवासरम् विगत २४ घटकेषु कोरोना संक्रमणस्य १.८६ लक्ष नव रुग्णा: आगतम् ! इदम् विगत ४४ दिवसेषु एकस्य दिवसस्य सर्वात् न्यून आंकड़ामस्ति !

देश में शुक्रवार को बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 1.86 लाख नए केस आए ! यह बीते 44 दिनों में एक दिन का सबसे कम आंकड़ा है !

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालयस्य कथनमस्ति तत विगत २४ घटकेषु संक्रमणतः २५९४५९ जनाः रोगमुक्ता: अभवत् देशे रोगमुक्त दरं बर्धित्वा ९०.३४ इत्ये प्राप्तानि !

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि बीते 24 घंटे में संक्रमण से 2,59,459 लोग ठीक हुए ! देश में रिकवरी रेट बढ़कर 90.34 पर पहुंच गई है !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article