का सन्ति जितिन प्रसाद:, कांग्रेसेण सह त्याग: भाजपाया: अवलंबित: हस्तं ! कौन हैं जितिन प्रसाद, कांग्रेस का साथ छोड़ BJP का थामा है हाथ !

0
223

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधनस्य (यूपीए) द्वयो सर्वकारयो केंद्रीय मंत्री रमित: कांग्रेसस्य युवा नेता जितिन प्रसाद: बुधवासरं भारतीय जनता दले सम्मिलित: अभवत् ! ज्योतिरादित्य सिंधियायाः: अनंतरम् जितिन: कांग्रेसस्य द्वितीय वृहद युवा नेता स्तः येन भगवा दलस्य हस्तमवलंबित: !

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) की दोनों सरकारों में केंद्रीय मंत्री रहे कांग्रेस के युवा नेता जितिन प्रसाद बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए ! ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद जितिन कांग्रेस के दूसरे बड़े युवा नेता हैं जिन्होंने भगवा पार्टी का दामन थामा है !

२०१९ तमस्य लोकसभा निर्वाचनस्य कालमपि तस्य भाजपायाम् सम्मिलितस्य चर्चाम् वेगम् ग्रहित: स्म तु तं कालम् कांग्रेस कश्चित प्रकारम् मान्ये साफल्यं भवितं ! प्रसाद: भाजपायाम् सम्मिलितस्य निर्णयं बहु चिंतनस्य नीत: निर्णयं बदित: !

2019 के लोकसभा चुनाव के समय भी उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चा ने जोर पकड़ा था लेकिन उस समय कांग्रेस किसी तरह उन्हें मनाने में सफल हो गई ! प्रसाद ने भाजपा में शामिल होने के निर्णय को बहुत सोच-विचार के लिया गया फैसला बताया है !

जितिन: प्रतीची उत्तरप्रदेशे ब्राह्मण समुदायस्य एकम् बृहदतं मुखम् सन्ति ! सः युवा सन्ति ! स्पष्टमस्ति तत २०२२ तमस्य विधानसभा निर्वचने भाजपाम् तस्य लाभम् लब्धिष्यति !

जितिन पश्चिमी यूपी में ब्राह्मण समुदाय का एक बड़ा चेहरा हैं ! वह युवा हैं ! जाहिर है कि 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को उनका फायदा मिलेगा !

शाहजहांपुरे जन्मित: जितिन प्रसाद: कांग्रेस नेता जितेंद्र प्रसादस्य पुत्र सन्ति ! जितिनस्य प्रारंभिक शिक्षा देहरादूनस्य प्रतिष्ठित दून विद्यालयात् अभवत् ! अत्र तस्य मेलनम् ज्योतिरादित्य सिंधियाया अभवत् !

शाहजहांपुर में जन्मे जितिन कांग्रेस नेता जितेंद्र प्रसाद के बेटे हैं ! जितिन की प्रारम्भिक शिक्षा देहरादून के प्रतिष्ठित दून स्कूल से हुई ! यहां उनकी मुलाकात ज्योतिरादित्य सिंधिया से हुई !

सिंधिया तस्यबाल्यकालस्य सखा स्तः ! जितिन: दिल्ली विश्वविद्यालयस्य श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स इत्येन वाणिज्य विषये स्नातक कृतः ! अस्यानंतरम् सः नव इंद्रप्रस्थस्य आईएमईआई इत्येन एमबीए इत्यस्य प्रमाणपत्रम् नीत: !

सिंधिया उनके बचपन के दोस्त हैं ! जितिन ने दिल्ली विश्वविद्यालय के श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से वाणिज्य विषय में स्नातक किया ! इसके बाद उन्होंने नई दिल्ली के आईएमआई से एमबीए की डिग्री ली !

जितिनस्य राजनीतिकस्य यात्रायाः प्रारंभ वर्षम् २००१ तमे भारतीय युवा कांग्रेसेण अभवत् ! सः आईवाईसी इत्यस्य महासचिव निर्मितं ! वर्षं २००४ तमस्य लोकसभा निर्वाचने सः प्रथमदा शाहजहांपुरासनात् निर्वाचनम् जय: !

जितिन की सियासत की पारी की शुरुआत साल 2001 में भारतीय युवा कांग्रेस से हुई ! वह आईवाईसी के महासचिव बनाए गए ! साल 2004 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने पहली बार शाहजहांपुर सीट से चुनाव जीता !

यूपीए सर्वकारे तेन इस्पात मंत्रालये राज्यमंत्री निर्मितं ! वर्षं २००९ तमस्य लोकसभा निर्वाचनं धौरहरासनात् जय: ! इदम् आसनः २००८ नव गणनायाः अनंतरम् संमुखमागतम् !

यूपीए सरकार में उन्हें इस्पात मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया ! साल 2009 का लोकसभा चुनाव धौरहरा सीट से जीता ! यह सीट 2008 परिसीमन के बाद सामने आई !

सः यूपीए इत्यस्य द्वितीय कार्यकाले पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालयः सड़क परिवहन विभागे च् राज्य मंत्री रमित: ! कांग्रेस तेन दलस्य महासचिव: इति नियुक्तम् कृतवान स्म !

वह यूपीए के दूसरे कार्यकाल में पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय और सड़क परिवहन विभाग में राज्य मंत्री रहे ! कांग्रेस ने उन्हें पार्टी का महासचिव नियुक्त किया था !

जितिन प्रसाद: कांग्रेसस्य पूर्वाध्यक्ष: राहुल गांधिण: निकषा तस्य मुख्य समूहस्य च् अंशम् रमन्ति ! बद्यते तत पूर्व केचन कालात् सः दलस्य नीतिभिः खिन्न: चरति स्म !

जितिन प्रसाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी और उनकी कोर टीम का हिस्सा रहे हैं ! बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से वह पार्टी की नीतियों से नाराज चल रहे थे !

यूपी कांग्रेसे स्वम् वृहद जिम्मेवारिम् न लब्धेन जितिन: स्वम् अंतिमतटे अनुभूयति स्म ! जितिन: यद्यपि युवा सन्ति ! अद्यापि तस्मिन् राजनीति शेषमस्ति !

यूपी कांग्रेस में खुद को बड़ी जिम्मेदारी न मिलने से जितिन खुद को हाशिए पर महसूस कर रहे थे ! जितिन चूंकि युवा हैं ! अभी उनमें सियासत बाकी है !

उत्तरप्रदेशे विधानसभा निर्वाचनमपि निकषास्ति इदृशेषु सः चिंतित्वा भाजपायाम् सम्मिलितस्य निर्णयम् कृतवान ! भाजपा तेन राज्ये वृहद जिम्मेवारिमपि दत्तुम् शक्नोति !

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव भी नजदीक है ! ऐसे में उन्होंने सोच समझकर भाजपा में शामिल होने का फैसला किया ! भाजपा उन्हें राज्य में बड़ी जिम्मेदारी भी दे सकती है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here