सपा बसपा काले कार्यकर्ताषु पंजीकृतानि प्रकरणानि पुर्निष्यते योगी सर्वकारः ! सपा बसपा काल में कार्यकर्ताओं पर दर्ज मामलों को वापस लेगी योगी सरकार !

0
221

उत्तर प्रदेशे विधानसभा निर्वाचनात् पूर्वम् भारतीय जनता दलम् स्व कार्यकर्तान् प्रसन्न कृतस्य तत्परतां कृतैति !

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं को खुश करने की तैयारी कर ली है !

बद्यते तत योगी सर्वकार: सपा बसपा च् सर्वकारयो कालम् भाजपा कार्यकर्तानां विरुद्धं पंजीकृतानि लगभगम् ५००० प्रकरणान् पुनर्नियस्य तत्परता करोति !

बताया जा रहा है कि योगी सरकार समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सरकारों के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज करीब 5000 मामलों को वापस लेने की तैयारी कर रही है !

वार्ता सूचनायाः अनुरूपम् मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथस्य, भाजपायाः राष्ट्रीय संगठनमंत्री बीएल संतोषस्य, राज्यस्य प्रभारी राधा मोहन सिंहस्यान्य मंत्रिणाम् मध्याभवन् गोष्ठ्याः अनंतरमेदम् निर्णयम् नीता: !

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री (संगठन) बीएल संतोष, राज्य के प्रभारी राधा मोहन सिंह और अन्य मंत्रियों के बीच हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया गया है !

भाजपाया: कथनमस्ति तत तेषां कार्यकर्तानां विरुद्धम् पंजीकृतानि इमानि प्रकरणानि सपायाः बसपायाः च् शासनकालयो अभवताम् !

भाजपा का कहना है कि उसके कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज ये मामले राजनीतिक रूप से प्रेरित हैं। कार्यकर्ताओं के खिलाफ ये मामले सपा और बसपा के शासनकाल में दर्ज हुए !

अवगम्यते तत विधानसभा निर्वचनेण पूर्वम् कार्यकर्तानां विरुद्धम् पंजीकृतानि प्रकरणान् पुनर्नित्वा भाजपा तै: प्रसन्न कर्तुमेच्छति कुत्रचित ते निर्वाचने पूर्ण मनोभिः संलग्नतुम् शक्नुता: !

समझा जाता है कि विधानसभा चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेकर भाजपा उन्हें खुश करना चाहती है क्योंकि वे चुनाव में पूरे मन से जुट सकें !

उत्तरप्रदेशे आगत वर्षम् विधानसभा निर्वाचनम् भवितमस्ति ! भगवा दलमद्यापि तः निर्वाचनस्य तत्परतायां संलग्नितं ! विधानसभायाः ४०३ आसनयुक्तानि इति राज्यस्य निर्वाचनी परिणाम भाजपाय बहु अभिप्राय: ध्रीति !

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। भगवा पार्टी अभी से चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। विधानसभा की 403 सीटों वाले इस राज्य के चुनाव नतीजे भाजपा के लिए काफी मायने रखते हैं।

यस्य पूर्वम् मार्च इत्ये एकः स्थानीय न्यायालयः सर्वकारम् राज्यस्य मंत्री सुरेश राणा, विधायकः संगीत सोम:, पूर्व सांसदः भारतेंदु सिंह:, वीएच पी नेतृ साध्वी प्राची सहितं भाजपाया: १२ नेतृणाम् पंजीकृतानि प्रकरणान् पुनर्नियस्याज्ञाम् दत्त: !

इसके पहले मार्च में एक स्थानीय अदालत ने सरकार को राज्य के मंत्री सुरेश राणा, विधायक संगीत सोम, पूर्व सांसद भारतेंदु सिंह, वीएचपी लीडर साध्वी प्राची सहित भाजपा के 12 नेताओं पर दर्ज मामलों को वापस लेने की इजाजत दी !

एतेषु सर्वेषु २०१३ तमस्य मुजफ्फरपुरोपद्रव प्रकरणेषु अभियोगम् पंजीकृतमासीत् ! मुजफ्फरपुरस्य एवमार्श्वपार्श्वस्य क्षेत्रेषु अभवन् उपद्रवेषु न्यूनात्न्यूनम् ६२ जनानां प्राणम् गताः ५०००० तः अधिकं जनाः च् विस्थापितं अभवन् !

इन सभी पर 2013 के मुजफ्फरपुर दंगा मामले में केस दर्ज था ! मुजफ्फरपुर एवं आसपास के इलाकों में हुए दंगों में कम से कम 62 लोगों की जान चली गई और 50,000 से ज्यादा लोग विस्थापित हुए !

लोकसभा निर्वाचनम् २०१४ तमस्यानंतरेणोत्तर प्रदेशे भाजपाया: प्रदर्शनमलौकिकं रमितं ! वर्षं २०१७ तमस्य विधानसभा निर्वाचने दलम् ३२५ आसनानि ळब्धं !

लोकसभा चुनाव 2014 के बाद से उत्तर प्रदेश में भाजपा का प्रदर्शन शानदार रहा है ! साल 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को 325 सीटें मिलीं !

अस्यानंतरम् २०१९ तमस्य लोकसभा निर्वाचने अपि भाजपाम् वृहद जयं पंजीकृतं ! विधान सभा निर्वाचने भाजपाम् स्वेत्यैव प्रदर्शनम् पुनः कर्तुमेच्छति !

इसके बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने बड़ी जीत दर्ज की ! विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने इसी प्रदर्शन को दोहराना चाह रही है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here